विज्ञापन
Story ProgressBack

Satna: 93 लाख के गेहूं घोटाले का हुआ भंडाफोड़, आरोपियों ने ऐसे पार किए 13 ट्रक अनाज, पुलिस ने दर्ज की FIR

MP News: सतना में 93 लाख रुपये कीमती गेहूं घोटाले के मामले में पुलिस ने आठ लोगों के खिलाफ कार्रवाई की है. इसके साथ ही जांच रिपोर्ट में घोटाले को अंजाम दिए जाने के तरीका का भी खुलासा हुआ है.

Read Time: 3 mins
Satna: 93 लाख के गेहूं घोटाले का हुआ भंडाफोड़, आरोपियों ने ऐसे पार किए 13 ट्रक अनाज, पुलिस ने दर्ज की FIR
पुलिस ने आठ आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है.

Wheat Scam in Satna: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के सतना (Satna) में 93 लाख रुपये कीमती गेहूं के गायब होने के मामले में पुलिस (Satna Police) ने समूह अध्यक्ष समेत कुल आठ लोगों से खिलाफ मामला दर्ज किया है. इस बहुचर्चित मामले में धारकुंडी पुलिस ने समूह की अध्यक्ष, दलाल, ट्रांसपोर्टर, तीन ऑपरेटर सहित कुल आठ लोगों को आरोपी बनाया है. पुलिस ने समूह की अध्यक्ष सीतागिरी, समूह ऑपरेटर अभिलाषा सिंह, समिति के दलाल शिवा सिंह, परिवहनकर्ता के मैनेजर सम्राट सिंह, नागरिक आपूर्ति निगम के ऑपरेटर नरेंद्र पाण्डेय, धनंजय द्विवेदी, सतीश कुमार द्विवेदी और राकेश सिंह के खिलाफ धारा 406, 417, 420, 467, 468, 471 और 120 (बी) के तहत मुकदमा दर्ज किया है. 

बता दें कि जिले के धारकुंडी थाना क्षेत्र में गेहूं के गायब होने का मामला सामने आया था. जहां जैतमाल बाबा महिला स्व सहायता समूह से चले गेहूं से लोड 13 ट्रक गायब हुए थे. गायब हुए गेहूं की कीमत 93 लाख रुपये बताई गई है.

इस तरीके किया गया घपला

बता दें कि समूह ने 8 मई को आठ ट्रक और 13 मई को पांच ट्रक गेहूं लोड कर भण्डारण के लिए लखनवाह के यूनिट क्रमांक 2 गोदाम भेजा था, आठ ट्रकों में कुल 2360 क्विंटल और पांच ट्रकों में 15 सौ क्विंटल अनाज भेजने का दावा किया गया. इन्हीं ट्रकों की टीसी डायवर्ट कर रेलवे रैक प्वाइंट भेजा गया था और फर्जी तरीके से किसानों के नाम पर भुगतान कर दिया गया. जांच अधिकारियों ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि 13 ट्रकों की बिल्टी नहीं बनाये जाने का जिक्र किया है, साथ ही रिपोर्ट में बताया गया कि इन ट्रकों की बिल्टी परिवहनकर्ता लॉगिन आईडी हैक कर बनाया गया है.

ऑपरेटर का देवर निकला मास्टर माइंड 

जैतमाल बाबा महिला स्व सहायता समूह की अध्यक्ष सीतागिरी खरीद प्रभारी थी. ऑपरेटर के तौर पर अभिलाषा सिंह की नियुक्ति थी. जानकारी के मुताबिक, यहां समूह अध्यक्ष और ऑपरेटर सिर्फ डमी के रूप में काम करते हैं. पूरा कारोबार ऑपरेटर का देवर शिवा सिंह देख रहा था. शिवा सिंह एक ओर ऑपरेटर की जगह काम कर रहा था दूसरी ओर समिति में सभी तरह के निर्णय भी यही लेता था. कुल मिलाकर पूरे प्रकरण में फर्जीवाड़े का मास्टरमाइंड यही था. फर्जी तरीके से गेहूं को रेडी टू ट्रांसपोर्ट दिखाया और फिर फर्जी तरीके से लोडिंग अनलोडिंग का खेल हुआ.

स्टॉक में मिली गड़बड़ी

जैतमाल बाबा महिला स्व सहायता समूह कारीगोही- (1012111) केंद्र क्र. 1 की जांच रिपोर्ट अनुसार कुल 155 कृषकों से 13602 क्विंटल गेहूं की खरीदी दिखाई गई. जिसमें से 10090 क्विंटल परिवहन किया गया है. खरीदी केंद्र परिसर पर मौके पर उपलब्ध गेहूं के स्टॉक का भौतिक सत्यापन किया गया है. जिसमें 9010 बोरी (4505 क्विंटल) शासकीय बारदाने में केंद्र में उपलब्ध पाया गया. बाकी स्टॉक 3512 क्विंटल से 993 क्विंटल अधिक भी मिला है. ऐसे में यहां यह भी साबित हो रहा है कि समूह ने किसानों से मनमानी तौल की है, जिससे केन्द्र में गेहूं की मात्रा में बढ़त हुई है और किसानों को भुगतान कम किया जाएगा.

यह भी पढ़ें - लंच, डिनर और ब्रेकफास्ट पर मिलेगी 50% की डिस्काउंट, माननी होगी रेस्टोरेंट मालिक की बस ये शर्त?

यह भी पढ़ें - MP Board Compartment 2024: MP में10वीं-12वीं की परीक्षाएं आज से शुरू, 2.55 विद्यार्थी होंगे शामिल

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Crime: सास ने बहू को कहा सिर्फ यह एक शब्द, तो बहू ने दी ऐसी सजा कि सुनकर कांप जाएगी रूह
Satna: 93 लाख के गेहूं घोटाले का हुआ भंडाफोड़, आरोपियों ने ऐसे पार किए 13 ट्रक अनाज, पुलिस ने दर्ज की FIR
ceremony of MPL Before 2 people were murdered in Gwalior know how the double murder happened amidst high security
Next Article
MPL के उद्धाटन समारोह से पहले ग्वालियर में 2 लोगों की हत्या, जानें हाई सिक्युरिटी के बीच कैसे हुआ डबल मर्डर?
Close
;