विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Dec 04, 2023

MP Election Results: ज्योतिरादित्य सिंधिया की चमक पड़ी फीकी, 13 में से 8 समर्थकों की डूबी नैया

MP Vidhan Sabha Election Results 2023: मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में इस बार जीत के आंकड़े बीजेपी के लिए खुशी देने वाले हों, लेकिन सिंधिया समर्थकों के लिए मायूसी भरे रहे. ग्वालियर-चम्बल अंचल से ज्योतिरादित्य सिंधिया के 13 समर्थक मैदान में उतरे, जिसमें से  उनके 8 समर्थक हार गए.

MP Election Results: ज्योतिरादित्य सिंधिया की चमक पड़ी फीकी, 13 में से 8 समर्थकों की डूबी नैया
केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के 13 समर्थक में से 8 हारे चुनाव

 Madhya Pradesh Results 2023: मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने विधानसभा चुनाव (Madhya Pradesh Election Results 2023) में बंपर मतों से जीत हासिल की है, बीजेपी को प्रदेश में दो तिहाई बहुमत मिला है. निर्वाचन आयोग के मुताबिक, प्रदेश की 230 विधानसभा सीटों में से बीजेपी ने 163 सीटों पर जीत दर्ज की, जबकि कांग्रेस मात्र 66 सीटों पर ही सिमट कर रह गई. हालांकि बीजेपी की इस बंपर जीत के बावजूद ग्वालियर-चम्बल अंचल में ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक प्रत्याशियों को अपेक्षाकृत इकतरफा सफलता नहीं मिली जैसी इंदौर में मिली है. दरअसल, 2018 के मुकाबले इस बार अंचल में बीजेपी की 11 सीटे बढ़ीं, लेकिन अगर उप चुनाव के बाद का आंकड़ा देखें तो उसे महज एक सीट ज्यादा मिली है.

सिंधिया के 13 में से आठ समर्थक हारे 

ग्वालियर-चम्बल अंचल से केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के 13 समर्थक मैदान में थे, जिनमें चार मंत्री शामिल थे. इस बार जीत के आंकड़े भाजपा के लिए जरूर खुशी देने वाले हों, लेकिन सिंधिया समर्थकों के लिए मायूसी भरे ही रहे. दरअसल, सिंधिया के 13 समर्थक में से उनके 8 समर्थक हार गए, जिनमें मुरैना से रघुराज कंसाना, अंबाह से कमलेश जाटव, डबरा से इमरती देवी, ग्वालियर पूर्व से माया सिंह, पोहरी से सुरेश धाकड़, बमोरी से महेंद्र सिंह सिसोदिया, अशोक नगर से जजपाल जज्जी और राघोगढ़ से हीरेन्द्र सिंह बना हैं. 

ये भी पढ़े: CG Election Result 2023: शुरुआती रुझानों में जीत रही कांग्रेस कैसे अचानक हार गई? बस्तर, सरगुजा व रायपुर बना टर्निंग प्वाइंट

मंत्री भी फिफ्टी-फिफ्टी 

शिवराज सिंह की निवर्तमान सरकार मे ग्वालियर चम्बल अंचल से चार मंत्री मैदान में थे. इनमें दो केबिनेट ऊर्जामंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर और श्रम मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया और दो राज्यमंत्री बृजेन्द्र यादव और सुरेश धाकड़ राठखेड़ा शामिल थे. हालांकि इन चार मंत्रियों में से प्रद्युम्न सिंह तोमर और बृजेन्द्र यादव ही चुनाव जीत सके.

इन नेताओं को नहीं दिया गया टिकट 

2020 में कांग्रेस की कमलनाथ सरकार गिराने के बाद सिंधिया के साथ भाजपा में शामिल हुए रक्षा सिरोनिया, ओपीएस भदौरिया, गिर्राज दंडोतिया, रणवीर जाटव, मुन्नालाल गोयल और जसमन्त जाटव को पार्टी ने इस बार टिकट नहीं दिया था. हालांकि इन नेताओं में से रक्षा सिरोनिया और ओपीएस भदौरिया ने साल 2020 में हुए उप चुनाव में जीत भी दर्ज कराई थी.

ये भी पढ़े: MP की इस सीट पर नहीं चला BJP-कांग्रेस का जादू, कर्ज लेकर चुनाव लड़ने वाले कमलेश्वर बने विधायक

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
बड़वानी: कस्तूरबा आश्रम में खाना खाते ही बिगड़ी 44 छात्राओं की तबीयत, प्रशासन में मचा हड़कंप
MP Election Results: ज्योतिरादित्य सिंधिया की चमक पड़ी फीकी, 13 में से 8 समर्थकों की डूबी नैया
The boys side refused dowry in the marriage in Niwari returned 11 lakh rupees of dowry
Next Article
MP News: ससुराल से मिले 11 लाख रुपये लौटाए, कहा-दहेज समाज की है सबसे बड़ी कुप्रथा
Close
;