विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Dec 28, 2023

असिस्टेंट प्रोफेसर की नौकरी छोड़ गांव में पढ़ाने वाले माधव को MPPSC में मिली सफलता, पिता से मिली प्रेरणा

देवास के माधव कुंदन को एमपीपीएससी 2019 की परीक्षा में सफलता मिली है. माधव दिल्ली में एसिस्टेंट प्रोफेसर की नौकरी छोड़कर खातेगांव में ग्रामीण बच्चों को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कराते है.

असिस्टेंट प्रोफेसर की नौकरी छोड़ गांव में पढ़ाने वाले माधव को MPPSC में मिली सफलता, पिता से मिली प्रेरणा
माधव का चयन आबकारी विभाग में उपनिरीक्षक के तौर पर हुआ है.

Dewas News: मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग (MPPSC) ने 26 दिसंबर की रात को एमपीपीएससी सिविल सर्विस एग्जाम 2019 (MPPSC 2019 Result) का रिजल्ट जारी कर दिया है. इसके साथ ही आयोग ने 472 पदों पर चयनित अभ्यर्थियों (MPPSC Candidates) की सूची जारी की गई है. जिसमें देवास जिले के खातेगांव के रहने वाले माधव कुंडल (32) भी शामिल हैं. माधव (Madhav Kundal) का चयन आबकारी विभाग में उपनिरीक्षक (Sub Inspector in Excise Department) के तौर पर हुआ है. बता दें कि आबकारी विभाग में उनकी रैंक 23 आने पर उन्हें आबकारी उपनिरीक्षक पद मिलेगा. माधव मूलतः खातेगांव तहसील के ग्राम संदलपुर के रहने वाले हैं.

एमपीपीएससी-2019 में सिलेक्शन के लिए माधव ने जनवरी 2020 में प्रिलिम्स एग्जाम दिया था, जिसमें सफलता मिलने के बाद उन्होंने अप्रैल 2023 में मेन्स एग्जाम दिया. इसके बाद उन्हें इंटरव्यू के लिए कॉल आया और उन्होंने 25 अगस्त 2023 को इंदौर में इंटरव्यू दिया. करीब 30 मिनट चले इंटरव्यू में उनसे कृषि, राष्ट्रवाद और इकोनॉमिक्स के बारे में सवाल किए गए. बता दें कि मेन्स के एग्जाम में माधव को 782.6 अंक और इंटरव्यू में 140 अंक मिले हैं. इससे पहले भी माधव मेन्स क्लियर कर इंटरव्यू राउंड तक पहुंच चुके हैं.

बच्चों को कराते हैं प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी

वैसे तो माधव कुंडल का चयन दिल्ली के एक नामी इंस्टीट्यूट में असिस्टेंट फैकल्टी के रूप में हो चुका था, लेकिन अपने गृह क्षेत्र की सेवा के संकल्प के चलते माधव ने खातेगांव में प्रकल्प नाम से एक इंस्टीट्यूट की शुरुआत की. वे यहां ग्रामीण क्षेत्र के बच्चों को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कराते हैं और रोजगार के लिए प्रशिक्षित करते हैं. ग्रामीण परिवेश में पले-बढ़े माधव कृषि कार्य से भी जुड़े हैं. कृषि में नए-नए नवाचार करते हुए वे जैविक खेती की दिशा में भी काम कर रहे हैं.

अपने पिता से मिली प्रेरणा

माधव बरकतुल्ला विश्वविद्यालय भोपाल से हिंदी विषय में पीएचडी भी कर रहे हैं. उनके पिता राजेंद्र कुंडल विद्युत विभाग से सेवानिवृत्त अधीक्षण अभियंता है. माधव ने बताया कि वे अपने पिता को बचपन से लोक सेवा के कार्य करते हुए देख रहे हैं और उन्हीं से लोक सेवा में जाने की प्रेरणा मिली.

ये भी पढ़ें - MP PSC Result: हैदराबाद में IPS की ट्रेनिंग ले रहीं पन्ना की बेटी, अब MPPSC में हुआ सलेक्शन, जानिए इनके बारे में

ये भी पढ़ें - MP PSC Result: 'दादाजी के आशीर्वाद का फल है' - DSP बनने पर बोले किसान परिवार के बेटे

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
MP News: बुंदेलखंड पैकेज से यहां बनाई गई मंडी, व्यापारी काट रहे मौज और भटक रहे किसान
असिस्टेंट प्रोफेसर की नौकरी छोड़ गांव में पढ़ाने वाले माधव को MPPSC में मिली सफलता, पिता से मिली प्रेरणा
Thieves carried out theft in a bungalow in Mandsaur if the heavy safe was not broken then the thieves took it away
Next Article
मंदसौर में चोरों ने दी बंगले में चोरी को अंजाम, वजनी तिजोरी नहीं टूटी तो उखाड़कर ले गए चोर
Close
;