विज्ञापन
Story ProgressBack

MP News: ‘नोट का जवाब नोटा’ से ‘तुम्हारा सिक्का खोटा’ तक इंदौर में गूंज रहे ये नए-नए चुनावी नारे

Lok Sabha Election: प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी ने स्थानीय मतदाताओं से आह्वान किया है कि वे 'भाजपा को सबक सिखाने के लिए' इस बार ‘नोटा' का इस्तेमाल करें. उन्होंने एक हालिया कार्यक्रम में कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि भले ही इस बार इंदौर में हमारा प्रत्याशी चुनाव मैदान में नहीं है, लेकिन मतदान के दिन हर बूथ के पास कांग्रेस कार्यकर्ता टेबल-कुर्सी लगाकर बैठें और इस भाव से काम करें कि नोटा ही हमारा प्रत्याशी है.

Read Time: 5 mins
MP News: ‘नोट का जवाब नोटा’ से ‘तुम्हारा सिक्का खोटा’ तक इंदौर में गूंज रहे ये नए-नए चुनावी नारे

Indore News: इंदौर लोकसभा क्षेत्र में कांग्रेस प्रत्याशी अक्षय कांति बम (Akshay Kanti bam) की ऐन मौके पर नाम वापसी के तगड़े झटके के बाद पार्टी के 'नोटा' के समर्थन में खुलकर मैदान में आने से सोशल मीडिया (Social Media) नए-नए चुनावी नारों से गूंज रहा है. ‘नोटा' के पक्ष और विपक्ष में गढ़े गए इन नारों के जरिए कांग्रेस (Congress) और भारतीय जनता पार्टी (BJP) 13 मई को होने वाले मतदान के मद्देजर जनमानस को अपने पाले में खींचने की कवायद में जुटी हैं.

72 वर्ष के इतिहास में पहली बार चुनावी दौड़ से बाहर है कांग्रेस

इंदौर सीट के 72 साल के इतिहास में पहली बार चुनावी दौड़ से बाहर कांग्रेस इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) पर उपलब्ध ‘नोटा' (उपरोक्त में से कोई नहीं) के विकल्प को इंदौर को अपने समर्थित 'प्रत्याशी' के तौर पर पेश करने की हर-मुमकिन कोशिश कर रही है. इस पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने ‘नोटा' के खिलाफ जोरदार अभियान छेड़ दिया है.

कांग्रेस ने नोटा को बताया अपना प्रत्याशी

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी ने स्थानीय मतदाताओं से आह्वान किया है कि वे 'भाजपा को सबक सिखाने के लिए' इस बार ‘नोटा' का इस्तेमाल करें. उन्होंने एक हालिया कार्यक्रम में कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि भले ही इस बार इंदौर में हमारा प्रत्याशी चुनाव मैदान में नहीं है, लेकिन मतदान के दिन हर बूथ के पास कांग्रेस कार्यकर्ता टेबल-कुर्सी लगाकर बैठें और इस भाव से काम करें कि नोटा ही हमारा प्रत्याशी है.

कांग्रेस की ओर से दिए गए नारे

पटवारी के इस आह्वान के बाद कांग्रेस के समर्थक 'नोट का जवाब नोटा', 'भाजपा ने काम किया खोटा, इसलिए इंदौर चुनेगा नोटा' और 'भाजपा लोकतंत्र की हत्यारी है, अब नोटा दबाने की बारी है' जैसे नारों के बूते सोशल मीडिया पर अपना अभियान चला रहे हैं.



भाजपा इन नारों से कर रही है पलटवार

वहीं, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने कांग्रेस के अपने समकक्ष पटवारी पर पलटवार करते हुए कहा कि आपका प्रत्याशी नामांकन वापसी के अंतिम वक्त में स्वेच्छा से अपना पर्चा वापस लेता है. जनता मूर्ख नहीं है. आपका सिक्का खोटा है और आप जनता से नोटा पर वोट डालने के लिए बोल रहे हैं. ऐसा थोड़ा ही चलेगा.

शर्मा के इस बयान के बाद भाजपा के सोशल मीडिया पर सक्रिय समर्थक 'तुम्हारा सिक्का खोटा, हम क्यों दबाएं नोटा' और '70 सालों का काम तुम्हारा खोटा, फिर क्यों चुनें हम नोटा' जैसे नारों के जरिए कांग्रेस पर जवाबी हमला कर रहे हैं.



संघ प्रमुख का पुराना वीडियो किया जा रहा है वायरल

भाजपा के ऐसे ही एक समर्थक द्वारा साझा की गई एक तुकबंदी में कहा गया, 'नोटा-नोटा कांग्रेस करें, नोटा दबाए न कोए, ऐसी नौटंकी करनी पड़े, जब कोई साथ न होए'. इंदौर में भाजपा के समर्थक ‘नोटा' के विरोध को धार देने के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत का पुराना वीडियो भी सोशल मीडिया पर प्रसारित कर रहे हैं. इस वीडियो में भागवत एक सार्वजनिक कार्यक्रम में यह कहते सुनाई पड़ते हैं, 'जब हम नोटा को चुनते हैं, तो हम ‘अवेलेबल बेस्ट' (उपलब्ध उम्मीदवारों में सर्वश्रेष्ठ प्रत्याशी) को भी किनारे कर देते हैं और इसका लाभ जो ‘अवेलेबल वर्स्ट' (उपलब्ध उम्मीदवारों में सबसे खराब प्रत्याशी) हैं, उन्हें ही मिलता है. इसलिए भले ही नोटा का प्रावधान है, लेकिन मेरा मानना है कि नोटा का उपयोग बिलकुल नहीं करना चाहिए और हमें ‘अवेलेबल बेस्ट' के पक्ष में जाना चाहिए.'

35 साल से इंदौर लोकसभा सीट पर भाजपा का है कब्जा

भाजपा का पिछले 35 साल से इंदौर लोकसभा सीट पर कब्जा है, जहां पार्टी ने इस बार कम से कम आठ लाख वोट के अंतर से जीत का दावा किया है. भाजपा ने अपने निवर्तमान सांसद शंकर लालवानी को लगातार दूसरी बार इंदौर के चुनावी रण में उतारा है. इंदौर मतदाताओं की तादाद के लिहाज से मध्य प्रदेश में सबसे बड़ा लोकसभा क्षेत्र है. इस सीट पर 25.13 लाख मतदाता 13 मई को 14 उम्मीदवारों का भविष्य तय करेंगे, जिनमें नौ निर्दलीय प्रत्याशी भी शामिल हैं.

ये भी पढ़ें- चौथे चरण के लिए 13 मई को होगी वोटिंग, जानें- किन राज्यों की 96 सीटों के लिए डाले जाएंगे वोट

साल 2019 में पिछले लोकसभा चुनाव के दौरान इंदौर में 69 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया था. तब इस सीट पर 5,045 मतदाताओं ने ‘नोटा' का विकल्प चुना था.

ये भी पढ़ें- एमपी की इन 8 सीटों पर 13 मई को चौथे चरण में होगी वोटिंग, जानें- अब से पहले यहां किसका था दबदबा

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
इंदौर स्वच्छता में नंबर 1, लेकिन यहां हो गई फेल... 1600 करोड़ हुए खर्च लेकिन नतीजा रहा जीरो
MP News: ‘नोट का जवाब नोटा’ से ‘तुम्हारा सिक्का खोटा’ तक इंदौर में गूंज रहे ये नए-नए चुनावी नारे
MPL 2024 Jabalpur Lions defeat Bhopal Leopards Arpit Gaur becomes Man of the Match
Next Article
MPL 2024: जबलपुर लायंस ने भोपाल लैपर्ड्स को दी करारी मात, अर्पित गौड़ बने 'मैन आफ द मैच'
Close
;