विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Oct 08, 2023

CM चौहान ने दीनदयाल रसोई योजना के तहत 'मोबाइल रसोई केंद्रों' को दिखाई हरी झंडी, 5 रुपये में मिलेगा भोजन

सीएम चौहान ने इस अवसर पर कहा, ‘‘पंडित दीनदयाल उपाध्याय गरीबों को भगवान मानते थे और उनकी प्रेरणा से ऐसे लोगों की सेवा के लिए मध्य प्रदेश में कई योजनाएं संचालित की जा रही हैं.'

CM चौहान ने दीनदयाल रसोई योजना के तहत 'मोबाइल रसोई केंद्रों' को दिखाई हरी झंडी, 5 रुपये में मिलेगा भोजन
CM चौहान ने दीनदयाल रसोई योजना के तहत 'मोबाइल रसोई केंद्रों' को दिखाई हरी झंडी
भोपाल:

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार को राज्य की राजधानी भोपाल के स्मार्ट सिटी पार्क से सस्ती दर पर भोजन उपलब्ध कराने के लिए दीनदयाल रसोई योजना के तहत 'मोबाइल रसोई केंद्रों' को हरी झंडी दिखाई. मध्य प्रदेश सरकार ने शनिवार को मजदूरों और जरूरतमंदों को उनके कार्यस्थल के नजदीक पांच रुपये में भरपेट भोजन उपलब्ध कराने के उद्देश्य से दीनदयाल रसोई योजना के तहत भोजन वाहनों की शुरुआत की.

सीएम चौहान ने इस अवसर पर कहा, ‘‘पंडित दीनदयाल उपाध्याय गरीबों को भगवान मानते थे और उनकी प्रेरणा से ऐसे लोगों की सेवा के लिए मध्य प्रदेश में कई योजनाएं संचालित की जा रही हैं.'' उन्होंने कहा कि गरीब लोग अब रियायती दरों पर भोजन खरीद सकते हैं. मुख्यमंत्री ने कहा, 'प्रवासी श्रमिकों और अन्य जरूरतमंद नागरिकों को इस योजना के माध्यम से उनके कार्यस्थल के पास भरपेट भोजन मिल सकता है.'

ये भी पढ़ें- 'केंद्र सरकार क्यों नहीं करा रही जनगणना?', भूपेश बघेल ने BJP को बताया 'आरक्षण विरोधी'

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि काम के लिए शहरों में आने वाले मजदूरों की दैनिक कमाई का एक बड़ा हिस्सा भोजन पर खर्च होता है, लेकिन अब, उन्हें अपने कार्यस्थल पर केवल पांच रुपये में ताजा भोजन मिलेगा, जिससे उनके पैसे और समय की बचत होगी. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने दीनदयाल रसोई योजना के तहत प्रति व्यक्ति 10 रुपये का अनुदान देने की व्यवस्था की है.

अनुदान युक्त भोजन योजना 7 फरवरी, 2017 को जिला मुख्यालय और छह प्रमुख धार्मिक स्थानों सहित 56 केंद्रों पर शुरू की गई थी. अधिकारियों के मुताबिक, फिलहाल 166 ऐसे केंद्र संचालित किए जा रहे हैं जबकि 25 ‘मोबाइल फूड वैन' शुरु की गई हैं. उन्होंने कहा, 'खाद्य वाहनों, में भोजन को गर्म रखने की सुविधा है. 5 रुपये प्रति दर से थालियां हर दिन सुबह 10 बजे से दोपहर 3 बजे तक प्रदान की जाएंगी. प्रत्येक वाहन की कीमत लगभग 25 लाख रुपये है.''

ये भी पढ़ें- नुक्कड़ सभाओं की बातों का अनर्थ नहीं लगाना चाहिए... मंत्री गोपाल भार्गव ने बयान पर दी सफाई

ऐसे खाद्य वाहन भोपाल में तीन, इंदौर में चार, ग्वालियर और जबलपुर में दो-दो और 12 नगर निगमों और दो औद्योगिक शहरों पीथमपुर और मंडीदीप में एक-एक संचालित होंगे. अधिकारियों ने कहा कि धीरे-धीरे, ऐसे ‘मोबाइल फूड सेंटर' 20,000 से अधिक आबादी वाले 68 नगर निकायों में शुरू किए जाएंगे.

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
भाजपा पार्षद पर आर्थिक सहायता के बहाने महिला से दुष्कर्म का लगा आरोप, एक्टिव हुई पुलिस
CM चौहान ने दीनदयाल रसोई योजना के तहत 'मोबाइल रसोई केंद्रों' को दिखाई हरी झंडी, 5 रुपये में मिलेगा भोजन
167 year old tradition was followed in Rewa Tajia was taken out on the day of Moharram know the history of Moharram month of islam religion
Next Article
रीवा में निभाई गई 167 साल पुरानी परंपरा, मोहर्रम के दिन निकाली गई ताजिया, जानें इन दिन का इतिहास
Close
;