विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Jul 08, 2023

कोरियाः नदियों से घिरा और प्रकृति की गोद में बसा है छत्तीसगढ़ का ये जिला

इस जिले का नाम पूर्व रियासत कोरिया के नाम पर पड़ा है. यहां गुरुघासी दास राष्ट्रीय उद्यान है, जो इस जिले की पहचान भी है. साथ ही कोरिया रियासत के राजा का महल आज भी यहां है, जिसे देखने दूर-दूर से लोग यहां पहुंचते हैं.

कोरियाः नदियों से घिरा और प्रकृति की गोद में बसा है छत्तीसगढ़ का ये जिला

छत्तीसगढ़ राज्य के उत्तर-पश्चिम में बसा कोरिया जिला, अपनी प्राकृतिक सुंदरता और जैव विविधता के लिए जाना जाता है. जिले से होकर कई नदियां बहती हैं, जिनमें से कई का उद्गम स्थल भी यहीं है. 25 मई 1998 को ये जिला अस्तित्व में आया. कोरिया पहले सरगुजा जिले का ही एक हिस्सा था, लेकिन बाद में इसे एक अलग जिला बनाया गया. इस जिले का नाम पूर्व रियासत कोरिया के नाम पर पड़ा है. यहां गुरुघासी दास राष्ट्रीय उद्यान है, जो इस जिले की पहचान भी है. साथ ही कोरिया रियासत के राजा का महल आज भी यहां है, जिसे देखने दूर-दूर से लोग यहां पहुंचते हैं. कोरिया एक आदिवासी बहुल जिला है. कोल, गोंड, गड़ेरी (गड़रिया) जैसी जनजातियां यहां निवास करती हैं.

इस वजह से जाना जाता गुरुघासी दास राष्ट्रीय उद्यान
गुरु घासीदास राष्ट्रीय उद्यान की स्थापना साल 2001 में हुई थी. इसके पहले ये संजय राष्ट्रीय उद्यान का हिस्सा था.

करीब 1440.705 वर्ग कि.मी में फैला ये उद्यान में बाघ, तेंदुआ, नीलगाय, चीतल जैसे ढेरों जानवरों का घर है. इस उद्यान से हसदेव, गोपद और अरपा नदी बहती है, अरपा का उद्गम इस उद्यान के अंदर ही है.

वहीं गोपद का उद्गम जिले के सोनहत में हैं. उद्यान की प्राकृतिक सुंदरता को देखने दूर-दूर से लोग पहुंचते हैं. गुरु घासीदास राष्ट्रीय उद्यान को छत्तीसगढ़ का चौथा और भारत का 53वां टाइगर रिजर्व घोषित किया गया है.

इतिहास को सहेजे है ‘कोरिया महल'
कोरिया महल, बैकुंठपुर में स्थित है. इस महल को बनाने का काम 1923 में शुरू हुआ था. मुगल और राजस्थानी शैली के इसके किलो की नक्काशी की गई. महल में कई सारे कमरे हैं और दो प्रांगण है. महल के मुख्य द्वार पर एक तोप रखा, जिसका इतिहास 300 साल पुराना है. 

बेहद मशहूर है गौरघाट वॉटरफॉल
गौरघाट वॉटरफॉल, जिला मुख्यालय बैकुंठपुर से करीब 43 किलोमीटर की दूरी पर है. 60 फीट की ऊंचाई से गिरता पानी और आस-पास की हरियाली देखने यहां दूर-दूर से लोग पहुंचते हैं. स्थानीय लोगों के मुताबिक इस वॉटरफॉल के जल कुंड में गौर पशु आराम किया करते थे, इसी वजह से इसका नाम गौरघाट पड़ा.

कोरिया जिला एक नजर में

  • क्षेत्रफल: 2001.779 वर्ग किमी
  • जनसंख्या: 658917
  • साक्षरता दर: 70.06%
  • ब्लॉक / तहसील : 2/ 4
  • आबादी ग्राम: 286
  • विधानसभा क्षेत्र- 3
  • शहरीय निकाय: 2

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
उज्जैन: महाकाल की नगरी से ही शुरु हुआ विक्रम संवत, कृष्ण से भी नाता
कोरियाः नदियों से घिरा और प्रकृति की गोद में बसा है छत्तीसगढ़ का ये जिला
madhya pradesh district umaria history tourism population facts
Next Article
उमरिया : 'काले सोने' से है उमरिया की पहचान, बाघों की दहाड़ देती है सुनाई
Close
;