विज्ञापन
Story ProgressBack

Narayanpur Naxal Encounter: नारायणपुर में सुरक्षा बल टीम ने 7 नक्सलियों को मार गिराया, इस साल अब तक 112 ढेर

Anti Naxal Operation in Chhattisgarh: छत्तीसगढ़ के सीएम विष्णु देव साय कह चुके हैं कि राज्य में यदि नक्सली गोली-बारूद की भाषा ही समझेंगे तो सरकार उसी भाषा में जवाब देगी. हालांकि जो बातचीत का रास्ता चुनेंगे हम उनका स्वागत करेंगे.

Narayanpur Naxal Encounter: नारायणपुर में सुरक्षा बल टीम ने 7 नक्सलियों को मार गिराया, इस साल अब तक 112 ढेर

Anti-Naxal Operation: छत्तीसगढ़ में एक बार फिर जवानों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई है. छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित इलाके (Naxal Affected Area) नारायणपुर और बीजापुर बॉर्डर पर सुरक्षा बल के जवानों और नक्सलियों के बीच ज़बरदस्त मुठभेड़ की खबर थी. इस मुठभेड़ सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में सात नक्सलियों को मार गिराया है. पुलिस अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी. नारायणपुर, दंतेवाड़ा और बीजापुर के सीमावर्ती क्षेत्र में नारायणपुर, दंतेवाड़ा और बस्तर के डीआरजी (DRG), बस्तर फाइटर्स (Bastar Fighters) और एसटीएफ (STF) के संयुक्त बल के नक्सल विरोधी सर्च अभियान (Anti Naxal Search Operation) के दौरान संयुक्त बल और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ रुक-रुक कर मुठभेड़ जारी है. प्राप्त जानकारी के अनुसार नक्सलियों की तरफ से आधुनिक हथियारों से सुरक्षा बलों के जवानों पर वार किया जा रहा था.

पुलिस का क्या कहना है?

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि नारायणपुर-बीजापुर जिले के सीमावर्ती क्षेत्र में नक्सलियों के प्लाटून नंबर-16 और इंद्रावती एरिया कमेटी के नक्सलियों की उपस्थिति की सूचना पर नारायणपुर, दंतेवाड़ा तथा बस्तर जिले के जिला रिजर्व गार्ड (डीआरजी), बस्तर फाइटर्स और विशेष कार्य बल (एसटीएफ) के संयुक्त दल को गश्त के लिए रवाना किया गया था. उन्होंने बताया कि दल आज सुबह 11 बजे जब क्षेत्र में था तो नक्सलियों ने उन पर गोलीबारी शुरू कर दी जिसके बाद सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्रवाई की.

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच देर तक मुठभेड़ जारी रही. उन्होंने बताया कि सुरक्षाबलों ने घटनास्थल से सात नक्सलियों के शव और हथियार बरामद किए हैं. मुठभेड़ में कई नक्सलियों के घायल होने का अंदेशा है. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि क्षेत्र में नक्सलियों के खिलाफ अभियान जारी है.

इस घटना के साथ ही इस साल राज्य में सुरक्षाबलों के साथ अलग-अलग मुठभेड़ों में अब तक 112 नक्सली मारे जा चुके हैं. इससे पहले 10 मई को बीजापुर जिले में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में 12 नक्सली मारे गए थे. वहीं, 30 अप्रैल को नारायणपुर और कांकेर जिले की सीमा पर सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में तीन महिलाओं सहित 10 नक्सली मारे गए थे. इसके अलावा, सुरक्षाबलों ने 16 अप्रैल को कांकेर जिले में मुठभेड़ में 29 नक्सलियों को मार गिराया था.

मोदी-शाह की दो टूक : आत्मसमर्पण करो या खत्म कर दिए जाओगे

केंद्रीय गृह (Union Home Minister) एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह (Amit Shah) अक्सर अपनी सभाओं और इंटरव्यू में यह कहते रहते हैं कि आने वाले 2 साल में नक्सलवाद को समाप्त कर देंगे.  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) के तीसरे टर्म में नक्सलवाद से पूर्ण मुक्त होगा छत्तीसगढ़, ये मोदी की गारंटी है.

छत्तीसगढ़ के सीएम विष्णु देव साय ने कहा है कि राज्य में यदि नक्सली गोली-बारूद की भाषा ही समझेंगे तो सरकार उसी भाषा में जवाब देगी. हालांकि जो बातचीत का रास्ता चुनेंगे हम उनका स्वागत करेंगे.

यह भी पढ़ें : Anti Naxal Operation: इनामी माओवादी समेत 10 नक्सली गिरफ्तार, सुकमा जिले में सुरक्षाबलों ने घेराबंदी कर दबोचा

डिप्टी सीएम ने नक्सलियों से पूछा- वे बताएं समर्पण नीति में क्या चाहते हैं?

छत्तीसगढ़ के डिप्टी सीएम विजय शर्मा (Vijay Sharma) ने कहा है कि हम तो नक्सलियों से ही पूछना चाहते हैं कि, वे बताएं समर्पण नीति में क्या चाहते हैं? बंदूक रखकर जंगल में घूमने का क्या मतलब? मुख्यधारा में चलें, लोकतंत्र अपनाएं, देश और समाज की उन्नति करें. हम पूरी तरह आशान्वित हैं, शीघ्र ही बस्तर में खुशी का माहौल होगा, बस्तर उन्नति के मार्ग पर प्रशस्त होगा." हमने मेल आईडी, गूगल फॉर्म भी जारी किया जिसमें आप सुझाव दे सकते है.

विजय शर्मा ने नक्सली नेताओं से पूछा है कि चीन जैसे देशों में भी माओवाद है, लेकिन वहां सामाजिक, धार्मिक, आर्थिक और व्यक्तिगत स्वतंत्रता शून्य है, क्या वे ऐसा राज्य चाहते हैं. उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ की पुनर्वास नीति बहुत ही अच्छी है. इसे बेहतर बनाने के लिए वह किसी भी राज्य में जाकर अध्ययन करने को तैयार हैं. लेकिन मुख्य विषय यह है कि न अधिकारियों को समर्पण करना है, न पत्रकारों को, न शासन में बैठे लोगों को और न आमजनों को. समर्पण माओवादियों को करना है और यह पहल उन्हीं के लिए है. 

यह भी पढ़ें : 4 ​महीने में 90 से ज्यादा नक्सली ढ़ेर, मोदी-शाह की चुनौती 'सरेंडर करो या मरो', CG में कैसे दम तोड़ रहा नक्सलवाद

यह भी पढ़ें : नक्सलियों के इरादों में बहा पानी... सुरक्षाबलों को मिली तीन बारूदी सुरंग, ये बम और हथियार नष्ट किए

यह भी पढ़ें : छत्तीसगढ़ बनने के बाद नक्सलियों के खिलाफ सबसे बड़ी सर्जिकल स्ट्राइक की पूरी कहानी, बस्तर में ऐसे हुए प्रहार

यह भी पढ़ें : छत्तीसगढ़ की बेटी ने रचा इतिहास! NEET की असफलता से Army में लेफ्टिनेंट डॉक्टर बनने तक, ऐसी है जोया की कहानी

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Baloda Bazar Violence मामले में कांग्रेस के इस युवा विधायक की बढ़ी मुश्किलें, पुलिस ने घर पर दी दबिश
Narayanpur Naxal Encounter: नारायणपुर में सुरक्षा बल टीम ने 7 नक्सलियों को मार गिराया, इस साल अब तक 112 ढेर
chhattisgarh cabinet expansion Vishnu cabinet may expand soon Rajesh Munat, Kiran Singhdev and former minister Vikram Usendi may get place
Next Article
छत्तीसगढ़: विष्णु कैबिनेट का जल्द हो सकता है विस्तार, इन दो चेहरों को मिल सकती है जगह
Close
;