विज्ञापन
Story ProgressBack

जल जीवन मिशन: नल से जल के लिए यहां ₹66 करोड़ खर्च, 2 साल बाद भी नहीं आया पानी

CG News: पंचायतों में घरों के बाहर लगने वाले एक कनेक्शन पर 6 हजार 969 रुपए खर्च किए जा रहे हैं. इसमें चबूतरा निर्माण व पाइप कनेक्शन लगाया जाना शामिल है. कोरिया, एमसीबी जिले में घर-घर पानी पहुंचाने के लिए कनेक्शन कार्य पर अब तक करीब 66 करोड़ रुपए खर्च किए जा चुके हैं, फिर भी कई पंचायत ऐसी हैं, जहां कनेक्शन लगने के 2 साल बाद भी पानी नहीं पहुंचा है.

Read Time: 5 min
जल जीवन मिशन: नल से जल के लिए यहां ₹66 करोड़ खर्च, 2 साल बाद भी नहीं आया पानी

Jal Jeevan Mission News: छत्तीसगढ़ के कोरिया और एमसीबी जिले में एक ओर पीएचई विभाग द्वारा दावा किया जा रहा है कि जल जीवन मिशन के तहत टैप वाटर कनेक्शन का कार्य 70 फीसदी पूरा हो चुका है जबकि वहीं दूसरी ओर जिले में 50 फीसदी से ज्यादा गांवों में इस मिशन से पानी की सप्लाई शुरू नहीं हुई है. विभाग के पोर्टल पर कार्य प्रगति को लेकर जाे दावे किए जा रहे हैं, वह घरों के बाहर लगने वाले कनेक्शन के हैं. जिले में ऐसी कई पंचायतें हैं, जहां कनेक्शन कार्य को पूरा हुए 2 साल से ज्यादा समय बीत चुका है, लेकिन पानी की सप्लाई शुरू नहीं होने से स्थानीय लोग परेशान हैं.

कितना हो चुका है खर्च?

पंचायतों में घरों के बाहर लगने वाले एक कनेक्शन पर 6 हजार 969 रुपए खर्च किए जा रहे हैं. इसमें चबूतरा निर्माण व पाइप कनेक्शन लगाया जाना शामिल है. कोरिया, एमसीबी जिले में घर-घर पानी पहुंचाने के लिए कनेक्शन कार्य पर अब तक करीब 66 करोड़ रुपए खर्च किए जा चुके हैं, फिर भी कई पंचायत ऐसी हैं, जहां कनेक्शन लगने के 2 साल बाद भी पानी नहीं पहुंचा है.

पीएचई विभाग के अनुसार कोरिया जिले में 51 हजार 836 घरों में जल जीवन मिशन के तहत टैप वाटर कनेक्शन होना है. इसमें 36 हजार 651 घरों में कनेक्शन कार्य पूरा हो चुका है. जिस पर नल कनेक्शन व चबूतरे के निर्माण में 25 करोड़ 57 लाख 87 हजार 329 रुपए खर्च किए जा चुके हैं. वहीं मनेंद्रगढ़-चिरमिरी-भरतपुर जिले में 83 हजार 350 कनेक्शन होने हैं. इसमें 58 हजार 106 घरों में कनेक्शन किए गए हैं, जहां कनेक्शन में 40 करोड़ 55 लाख 21 हजार 774 रुपए खर्च किए जा चुके हैं.

7 गांव ऐसे जहां 100 फीसदी कनेक्शन हुए 

पीएचई के अनुसार कोरिया जिले के 242 गांवों में 7 गांव ऐसे हैं, जहां 100 फीसदी घरों तक कनेक्शन पहुंचाने का कार्य पूर कर लिया गया है. वहीं 235 गांवों में निर्माण कार्य चल रहा है. जिले में 42 गांवों में युवाओं को मरम्मत कार्य व पानी सप्लाई को लेकर प्रशिक्षित किया जा चुका है, जो योजना की देखरेख कर रहे हैं. वहीं एमसीबी जिले में 5 ऐसे गांव हैं, जहां 100 फीसदी कनेक्शन कार्य पूरा हुआ है. 109 गांवों में युवाओं को प्रशिक्षित कर योजना से जोड़ा गया है, जो योजना की देखरेख कर रहे हैं.

कोरिया जिले के पटना, कटोरा, चिरगुड़ा, छिंदिया, तेंदुआ, शिवपुर व एमसीबी जिले के ग्राम पंचायत बंजारीडांड, खड़गवां में नल कनेक्शन के बाद लोग 2 साल से पानी आने का इंतजार कर रहे हैं. निर्माण के बाद ठेकेदार को नल कनेक्शन के लिए राशि का भुगतान कर दिया गया पर टंकी समेत सप्लाई शुरू करने में देरी हो रही है. अफसरों के अनुसार बचे निर्माण के लिए रायपुर से टेंडर किए जा रहे हैं, इसलिए देरी हो रही है.

कनेक्शन के लिए लोकल टेंडर 

यहां घरों के बाहर बनने वाले कनेक्शन कार्य के लिए पीएचई विभाग ने लोकल टेंडर कराए हैं. ठेकेदारों को निर्माण के बाद 66 करोड़ राशि का भुगतान कर दिया गया है, लेकिन निर्माण के बाद घरों तक पानी पहुंचाने की तैयारी कछुए की गति से चल रही है. 10 समूह जल प्रदाय याेजना को लेकर टेंडर प्रक्रिया का कार्य भी अब तक पूरा नहीं हो पाया. इससे निर्माण में देरी हो रही है.

जल जीवन मिशन के तहत लगाई गई पाइप में बंधे हुए जानवर

जल जीवन मिशन के तहत लगाई गई पाइप में बंधे हुए जानवर

नल में बंध रहे हैं मवेशी

ग्राम तेंदुआ के संतोष यादव ने कहा कि नल कनेक्शन में दो साल से पानी नहीं आने के कारण वे मवेशियों को इसमें बांध रहे थे, मवेशियों को बांधते-बांधते नल के लिए लगी पाइप लाइन उखड़ गई. वहीं जीवन लाल टंडेल ने कहा कि नल कनेक्शन में पानी नहीं आया है. पूरे गांव का यही हाल है. पानी नहीं आने के कारण दरवाजे पर लगे नल की पाइप को लोग मवेशियों के खूंटे की तरह उपयोग कर रहे हैं.

70 फीसदी कनेक्शन कार्य किए: EE

पीएचई विभाग के ईई सीबी सिंह ने कहा कि कोरिया, एमसीबी जिले में 70 फीसदी कनेक्शन के कार्य पूरे किए जा चुके हैं. पंचायतों में तेजी से कार्य चल रहे हैं. आगामी 4 महीने के भीतर जहां कनेक्शन लग चुके हैं वहां वाटर सप्लाई शुरू हो जाएगी. निर्माण जल्द से जल्द पूरा कर घर-घर पानी पहुंचाने के प्रयास चल रहे हैं. बचे हुए कार्यों काे भी जल्द से जल्द पूरा करवा लिया जाएगा.

यह भी पढ़ें : सावधान! ECI ने जारी की नई गाइडलाइन, बोले-कैंपेनिंग और रैलियों में बच्चों के इस्तेमाल को नहीं करेंगे बर्दाश्त

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
switch_to_dlm
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close