विज्ञापन
Story ProgressBack

CHO strike: कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर की अनिश्चितकालीन हड़ताल, तीन सूत्रीय मांगों को लेकर दिया धरना

Chhattisgarh News: कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर (Community Health Officer) ने अपनी तीन बड़ी मांगों के लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू कर दी है. सुकमा और कोंडागांव में हड़ताल की वजह से मरीजों को परेशानियों का सामना करना पड़ा है.

CHO strike: कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर की अनिश्चितकालीन हड़ताल, तीन सूत्रीय मांगों को लेकर दिया धरना
तीन सूत्रीय मांगों लेकर दिया धरना

Community Health Officer in Chhattisgarh: छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में लोकसभा चुनाव के बाद अब हड़ताल का सिलसिला शुरू हो गया है. कोंडागांव और सुकमा में प्रदेश स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के बैनर तले कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर (Community Health Officer) अनिश्चितकालीन हड़ताल (strike) पर चले गए हैं. कर्मचारियों के हड़ताल पर होने की वजह से स्वास्थ्य केंद्र में होने वाले ऑनलाइन कार्य दिनभर प्रभावित रहे. डेली रिपोर्टिंग, वैलनेस रिपोर्टिंग, आईडीएसपी,ई-संजीवनी, एनसीडी हेल्थ मेला प्लानिंग समेत अन्य कार्य के लिए दिक्कतों का सामना करना पड़ा.

ये हैं तीन बड़ी मांगें

संघ के सुकमा जिला अध्यक्ष महेंद्र कुर्रे ने बताया कि उनकी तीन प्रमुख मांग हैं, जिसमें गृह जिले में स्थानांतरण नियम, 8 किमी मुख्यालय निवास की अनुमति, कांकेर जिले के सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी को बर्खास्त किया गया है, उसकी बहाली किया जाए. कार्य आधारित वेतन (PLP) 15 तारीख के भीतर भुगतान का आदेश है, इसके बाद भी राशि नहीं दी गई है.

अमानवीय व्यवहार पर रोक की मांग

कर्मचारियों की हड़ताल पर जाने से स्वास्थ्य संबंधित कार्य प्रभावित हो रहे, जिसके लिए स्वास्थ्य कर्मचारियों ने खेद व्यक्त किया है. इसके साथ ही कर्मचारियों ने बताया की महिला स्वास्थ्य कर्मचारियों के साथ कई बार अमानवीय व्यवहार भी किया जाता है, जिस पर रोक लगाने की मांग भी स्वास्थ्य कर्मचारियों ने की.

ये भी पढ़ें- Food Park: 3.5 करोड़ रुपये के मेगा फूड पार्क से रोजगार का था वादा, पर ये शराबियों का बन गया ठिकाना !

कोंडागांव में भी जारी हड़ताल

प्रदेश स्वास्थ्य अधिकारी संघ के आवाहन पर डीएनके मैदान पर कोंडागांव जिले के सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी तीन सूत्रीय मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठ गये हैं. इनकी मांग है कि लंबित कार्य आधारित मानदेय और शासन द्वारा निर्देशानुसार प्रति माह 15 तारीख से पहले से भुगतान, सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारियों को स्थानांतरण और मुख्यालय से 8 किलोमीटर के दायरे में रहने का लाभ और कांकेर जिला संयोजक पवन वर्मा की बहाली की मांग शामिल है.

सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी संघ के अध्यक्ष दीपक वर्मा ने बताया कि जब तक इनकी मांगें पूरी नहीं होती है, तब तक हड़ताल जारी रहेगा. गौरतलब है कि जिले में 138 उप स्वास्थ्य केंद्र है. इनके हड़ताल पर चले जाने से उप स्वास्थ्य केंद्रों में टीकाकरण,आयुष्मान कार्ड , सिकलिंग जांच , बीपी शुगर जांच,  मौसमी बीमारी में दवा देना आदि प्रभावित हो जायेगा.

ये भी पढ़ें- Chhattisgarh News : नक्सल प्रभावित कांकेर में BSF जवान ने खुद को मारी गोली, इस हाल में जंगल में पड़ा मिला शव

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Union Budget 2024 Live Updates: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आज पेश करेगी मोदी 3.0 का पहला बजट, जानें क्या होगा खास?
CHO strike: कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर की अनिश्चितकालीन हड़ताल, तीन सूत्रीय मांगों को लेकर दिया धरना
Online Fraud News in Hindi Woman Loses 36 Lakh in the Name of Blessings at Home
Next Article
Online Fraud : घर में बरकत के नाम पर महिला ने ऐसे गंवाए ₹36 लाख !
Close
;