विज्ञापन
Story ProgressBack

कोविड के दौरान पिता की हुई मौत, बेटे ने बिना कोचिंग पहले जेईई मेन्स क्लियर किया, अब संभाग में बना 12th टॉपर

CG News: अंबिकापुर के रहने वाले निलय ने 12वीं में संभाग में टॉप किया है. इन्होंने यह कारनामा बिना किसी कोचिंग के किया है. खास बात यह है कि उन्होंने जेईई मेन्स की परीक्षा भी बिना कोचिंग के पास की है.

कोविड के दौरान पिता की हुई मौत, बेटे ने बिना कोचिंग पहले जेईई मेन्स क्लियर किया, अब संभाग में बना 12th टॉपर
निलय ने पढ़ाई के साथ मां के काम में भी हाथ बंटाया है.

CBSE Board 12th Topper in Surguja: सीबीएसई ने 12वीं बोर्ड की परीक्षा के परिणाम (CBSE 2024 Result) जारी कर दिए हैं. इस बार अंबिकापुर (Ambikapur) के ओरिएंटल पब्लिक स्कूल के छात्र निलय चौधरी (Nilay Chaudhary) ने 98.2 प्रतिशत अंकों के साथ सरगुजा संभाग (Surguja Division) में टॉप किया है. जिससे उनके घर में खुशी का माहौल है. संभाग में टॉप करने के अलावा भी निलय ने एक और उपलब्धि हासिल की है. निलय चौधरी ने बिना कोचिंग के कठिन माने जाने वाले जेईई मेन्स एग्जाम क्रैक (Cracked JEE Mains) किया है.

अंबिकापुर से लगे ग्राम अजिरमा में रहने वाले गोरेलाल चौधरी और राममूर्ति चौधरी के बेटे ने एक साथ दो-दो उपलब्धियां हासिल की है. निलय ने इसी वर्ष जेईई मेन्स की परीक्षा भी पास की है. आठवीं तक छत्तीसगढ़ बोर्ड से पढ़ाई करने वाले निलय ने नवमी में सीबीएसई बोर्ड में प्रवेश लिया था. यह आम धारणा है कि सीजी बोर्ड से पढ़ाई कर सीबीएसई बोर्ड में प्रवेश लेने से विद्यार्थियों को परेशानी होती है, लेकिन निलय ने खुद की मेहनत और शिक्षकों के मार्गदर्शन से ऊंचाइयां हासिल की हैं.

बिना कोचिंग व ट्यूशन के 12वी व जेईई मेंस क्लियर किया

10वीं बोर्ड की परीक्षा में 97.2 प्रतिशत अंकों के साथ पास होने वाले निलय ने 12वीं बोर्ड में 98.2 प्रतिशत अंक हासिल किया है. निलय की इस मेहनत में उनकी माता का बहुत बड़ा योगदान है. सबसे खास बात यह है कि निलय ने बिना ट्यूशन अथवा कोचिंग के जेईई मेंस क्लियर कर लिया है. वे जेईई एडवांस की तैयारी में लगे हुए हैं. इस परीक्षा के लिए वे कड़ी मेहनत कर रहे हैं. निलय की इच्छा कंप्यूटर साइंस में आगे की पढ़ाई करने की है.

बहन ने नीट की परीक्षा में मारी बाजी

NDTV  से खास बातचीत करते हुए निलय ने बताया कि वे प्रतिदिन 4-5 घंटे की पढ़ाई के साथ मां के काम में सहयोग भी करते हैं. उन्होंने ने बताया कि वे शुरू से ही अपने कोर्स को लेकर गंभीर थे और स्कूल के टीचरों का उन्हें बहुत सहयोग मिला, जिसके कारण वह आज इस मुकाम पर हैं. निलय की बड़ी बहन ने 96 प्रतिशत अंकों के साथ 12वीं बोर्ड की परीक्षा उत्तीर्ण की थी. उन्होंने नीट क्वालीफाई किया है. अभी वह एमबीबीएस की पढ़ाई कर रही हैं. दोनों भाई-बहन ने सरगुजा का नाम गौरवान्वित किया है.

पिता के मौत के बाद मां ने संभाली जिम्मेदारी

निलय के पिता का कोरोना काल में आकस्मिक निधन हो गया. इसके बाद उनकी मां राममूर्ति ने मां के साथ पिता का भी दायित्व निभाते हुए न सिर्फ पति के व्यवसाय को आगे बढ़ाया, बल्कि बच्चों की पढ़ाई में कोई कसर नहीं छोड़ी. निलय के बड़ी बहन 2023 में NEET की परीक्षा पास कर ली है. वर्तमान में वे शासकीय अटल बिहारी वाजपेई मेडिकल कॉलेज भोपाल में पढ़ाई कर रही है. निलय की मां ने NDTV को बताया कि निलय को उन्होंने कभी भी पढ़ाई का प्रेशर नहीं दिया. निलय स्कूल से आने के साथ दुकान भी संभालता है और फिर पढ़ाई भी करता है. निलय का परिवार मूलतः मध्य प्रदेश के सतना जिले का रहने वाला है और काफी समय पहले अंबिकापुर से लगे ग्राम अजिरमा में रह रहे हैं.

यह भी पढ़ें - CBSE Board 12th Result 2024: सीबीएसई बोर्ड ने जारी किया 12वीं का रिजल्ट, यहां करें चेक

यह भी पढ़ें - CBSE Board Result 2024: 87.98% बच्‍चे पास, फिर लड़कियों ने मारी बाजी, जानिए पूरा डिटेल

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
NDTV Exclusive: डिप्टी CM विजय शर्मा ने आंकड़े पेश कर किया बड़ा दावा, बोले- भूपेश सरकार...
कोविड के दौरान पिता की हुई मौत, बेटे ने बिना कोचिंग पहले जेईई मेन्स क्लियर किया, अब संभाग में बना 12th टॉपर
Jashpur CM Vishnu Deo Sai children get vocational education along with school education there will also be two board exams
Next Article
Chhattisgarh: बच्चों को स्कूली शिक्षा के साथ मिलेगी व्यावसायिक शिक्षा भी, दो बोर्ड Exam भी होंगे, जानें CM साय ने और क्या कहा? 
Close
;