विज्ञापन
Story ProgressBack

हौसले ने दी उम्र को मात ! आयरन गेम में सलिता और संजीदा ने जीता गोल्ड

Women Empowerment : छत्तीसगढ़ की सलिता और संजीदा ने पावर लिफ्टिंग में कमाल दिखाकर ना सिर्फ जिले का नाम रोशन किया है बल्कि देश भर की महिलाओं के लिए नारी शक्ति की मिसाल भी पेश की है. पढ़िए उम्र को मात देने वाली स्ट्रार वूमेन की कहानी.... 

Read Time: 3 mins
हौसले ने दी उम्र को मात ! आयरन गेम में सलिता और संजीदा ने जीता गोल्ड
पावर लिफ्टिंग में 55 की उम्र में सलिता और संजीदा ने जीता स्वर्ण पदक, छत्तीसगढ़ का बढ़ाया मान.

Chhattisgarh Today News: छत्तीसगढ़ के एमसीबी जिले से एक अच्छी खबर सामने आई है. अक्सर आपने लोगों को यह कहते सुना होगा कि अगर कुछ हासिल करने की चाह मन में हो तो उम्र या कोई और चीज़ उसके आगे बाधा नहीं बनती. बस इच्छा शक्ति मजबूत होनी चाहिए. इसी बात को छत्तीसगढ़ की संजीदा खातून ने सच कर दिखाया है. आठ बड़े ऑपरेशन और कई बड़ी बीमारियों को मात देकर संजीदा खातून ने आयरन गेम में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर छत्तीसगढ़ समेत जिले का नाम रोशन किया है. अब वे नई पीढ़ी की महिलाओं के लिए आइकॉन बन चुकी हैं.  55 साल की संजीदा खातून ने एक बार फिर मास्टर वर्ग में योग, पावर लिफ्टिंग और तवा फेंक में 3 स्वर्ण पदक हासिल किया.

सलिता पनेरिया ने जीता 2 गोल्ड

आपको बता दें कि जम्मू कश्मीर में राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित विभिन्न खेलों में चिरमिरी की दो महिलाओं ने स्वर्ण पदक हासिल किया है. संयुक्त भारतीय खेल फाउंडेशन द्वारा 24 से 26 मई तक आयोजित राष्ट्रीय खेल प्रतियोगिता में 38 तरह की स्पर्धा आयोजित की गई. इसमें 22 राज्यों के खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया. अंडर 30 सीनियर महिला वर्ग में सलिता पनेरिया ने योग और पावर लिफ्टिंग में 2 स्वर्ण पदक हासिल किया.

ऑपरेशन के बाद बेजान हो गई थी बॉडी

बता दें कि संजीदा खातून ने बड़ी बीमारियों को मात देकर स्पाइनल डिस्क जैसे ऑपरेशन के बाद बेजान हो चुके शरीर को व्यायाम और योग की मदद से न केवल ठीक किया बल्कि पावर लिफ्टिंग जैसे आयरन गेम से राष्ट्र में अपनी एक अलग पहचान बनाई है. वे बेटी बचाओ मंच की मदद से अपने क्षेत्र की बेटियों, महिलाओं को शारीरिक रूप से मजबूत बनाने के साथ खेल के लिए भी तैयार करती हैं. खासबात यह है कि एमसीबी जिले के चिरमिरी शहर की 25 और मनेंद्रगढ़ की आठ महिलाएं जिम जाकर पॉवर लिफ्टिंग, स्ट्रेंथ लिफ्टिंग और वेट लिफ्टिंग जैसे स्पोर्ट्स के लिए पसीना बहा रही हैं.

बीमारियों को दी ऐसे मात

जिला एमसीबी छत्तीसगढ़ की मास्टर 2 महिला वर्ग से चिरमिरी, छत्तीसगढ़ की 55 वर्षीय संजीदा खातून ने पावरलिफ्टिंग, स्ट्रेंथ लिफ्टिंग और वेट लिफ्टिंग में न सिर्फ जिला और राज्य समेत राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय स्तर पर परचम लहराया है. 55 वर्षीय संजीदा खातून छह बार छत्तीसगढ़ स्ट्रॉन्ग वूमेन और तीन बार नेशनल स्ट्रांग वूमेन का खिताब अपने नाम कर चुकी हैं. संजीदा ने अपनी दृढ़ इच्छा शक्ति से स्पाइनल डिस्क के ऑपरेशन के बाद योग और कसरत के साथ सही खानपान की मदद से अपनी कई लाइलाज बीमारियों को दूर करने में सफलता पाई है.

नेशनल रिकॉर्ड में नाम दर्ज

वहीं, पावर लिफ्टिंग में अपनी पहचान बनाई और स्ट्रेंथ लिफ्टिंग में नेशनल रिकॉर्ड अपने नाम कर चुकी हैं. यही नहीं, नारी शक्ति के लिए एक उदाहरण हैं, जो स्वयं की बेटियों के अलावा अन्य समाज की महिलाओं को आगे बढ़ाने के लिए प्रयासरत हैं.

ये भी पढ़ें- चिंताजनक: 797 में से 75 महिलाएं जीतीं, फट गया नारी वंदन का ढोल... पिछला प्रदर्शन भी नहीं दोहरा पायीं नारियां

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Election Results 2024: एससी-एसटी सीटों पर खेला, BJP को नीचे धकेला, 2019 में ऐसा रहा प्रदर्शन
हौसले ने दी उम्र को मात ! आयरन गेम में सलिता और संजीदा ने जीता गोल्ड
shani-jayanti-2024-shubh-muhurat-puja-vidhi-mantra-katha-Shani Chalisa-and-aarti-kab-hai-vaishakh-shani-jayanti Date, Time and All you need to know
Next Article
Shani Jayanti 2024: शनि जयंती पर शुभ मुहूर्त से लेकर कथा, आरती, चालीसा तक जानिए सब कुछ
Close
;