विज्ञापन
Story ProgressBack

Muharram 2024: मोहर्रम पर मुसलमानों ने अब ये काम करने से की तौबा, बताई ये वजह

Mahoram Taziya: खरगोन शहर में मोहर्रम को लेकर आयोजित हुई बैठक में मौजूद इमाम और मौलानाओं ने कहा कि डीजे बजाना शरीयत में हराम होने के साथ ही कानूनी रूप से भी जुर्म है. इसके साथ ही डीजे पर फूहड़ता वाला डांस किया जाता है, जो कि जुलूस जैसे पवित्र आयोजन की गरिमा को गिराता है.

Muharram 2024: मोहर्रम पर मुसलमानों ने अब ये काम करने से की तौबा, बताई ये वजह

Muharram Taziya: इस महीने यानी जुलाई की 16 तारीख को देशभर में इस वर्ष मोहर्रम का जुलूस (Muharram Juloos) निकाला जाएगा. इससे पहले मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के खरगोन (Khargone) शहर में मुस्लिम (Indian Muslims) समाज  बुद्धिजीवियों और इमामों की बैठक आयोजित की गई थी. शहर के जमात खाने में सामाजिक संस्था जमात-ए-इस्लाहुल मुस्लिमीन (Jamaat-E-Islahul Muslimeen) की ओर से आयोजित बैठक में सबकी सहमति से पैगम्बर-ए-इस्लाम हजरत मुहम्मद  (स) के नवासे (नाती) की शहादत की बरसी पर निकलने वाले जुलूस के दौरान डीजे और किसी भी तरह के साउंड सिस्टम का प्रयोग न करने पर सहमति बनी. इसके साथ ही यह भी तय किया गया कि इस बार जुलूस शांति और आपसी भाईचारे के साथ निकाला जाएगा. 

फैसला नहीं मानने वालों का होगा सामाजिक बहिष्कार

खरगोन शहर में मोहर्रम को लेकर आयोजित हुई बैठक में मौजूद इमाम और मौलानाओं ने कहा कि डीजे बजाना शरीयत में हराम होने के साथ ही कानूनी रूप से भी जुर्म है. इसके साथ ही डीजे पर फूहड़ता वाला डांस किया जाता है, जो कि जुलूस जैसे पवित्र आयोजन की गरिमा को गिराता है. वहीं, इस तरह के डीजे साउंड युवाओं में नशे को भी बढ़ावा देता है. इस तरह जमात खाने में हुई बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि इस पाबंदी को सभी मुहल्ला कमेटियों को अनिवार्य रूप से मानना होगा. यदि कोई शासन, प्रशासन या जनप्रतिनिधियों के पास परमिशन लेने जाता है, तो ऐसे में उसका सामाजिक बहिष्कार किया जाएगा.

ये भी पढ़ें- अब नहीं लगेगी 'तारीख पर तारीख', नया कानून लागू होने से मात्र इतने दिन में मिलेगा इंसाफ

शादी में डीजे पर पहले ही लगा चुके हैं बैन

बता दें कि इस बैठक में सामाजिक संस्था जमात-ए- इस्लाहुल मुस्लिमीन के मेंबर और अहले सुन्नत वल जमात के उलेमा मौलाना उस्मान, मुसअब मुफ्ती जिलानी, मौलाना कुतुबुद्दीन कादरी, हाफिज कलीम, हाफिज मोहसिन, मुफ्ती तैयब, सदर आरिफ खान, जाकिर खान, मकबूल खान के साथ ही सेक्रेटरी और पूर्व सदर अल्ताफ आजाद, जाकिर हाफिज सहित शहर भर के मौलाना मौजूद थे. उल्लेखनीय है कि इसके पहले जमात ने शादी में भी डीजे बजाने पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया था, जिस पर आज भी समाज के लोग अमल कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें- CG News: बुजुर्ग पिता ने बेटे को दिया दोहरा जीवन, अपना यह अंग देकर बचाई जान

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
गौसेवकों के लिए खुशखबरी: CM मोहन यादव का ऐलान, अब MP में दस से अधिक गाय पालने वालों को मिलेगा अनुदान
Muharram 2024: मोहर्रम पर मुसलमानों ने अब ये काम करने से की तौबा, बताई ये वजह
Beggars Free Campaign: Bhopal will be beggar free, team formed on the instructions of the collector, action will also be taken against those who give alms
Next Article
Beggars Free Campaign: भिखारी मुक्त होगा भोपाल, कलेक्टर के निर्देश पर टीम गठित, भीख देने वालों पर भी होगी कार्रवाई!
Close
;