विज्ञापन
Story ProgressBack

'यादव' को साधने में जुटे अखिलेश, पन्ना गोलीकांड में मृतक के परिवार को दी 4.25 लाख की सहायता राशि

Lok Sabha Elections 2024: समाजपार्टी पार्टी के नेता और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव लोकसभा चुनाव से पहले खजुराहो में यादवों को साधने में लगे हुए हैं. दरअसल, यूपी की सीमा से लगे खजुराहो में यादव मतदाताओं की संख्या काफी ज्यादा है और ये सीट समाजवादी पार्टी के खाते में गई है.

Read Time: 3 min
'यादव' को साधने में जुटे अखिलेश, पन्ना गोलीकांड में मृतक के परिवार को दी 4.25 लाख की सहायता राशि

मध्य प्रदेश विधानसभा के दौरान पन्ना के अजयगढ में आयोजित सभा में हुए गोलीकाण्ड की घटना घटी थी. इस घटना में मृतक के परिवार वाले को यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने 4.25 लाख रुपये और घायलों को 25-25 हजार रुपये की सहायता राशि देने का वादा किया गया था. अब अखिलेश यादव ने अपना वादा पूरा करते हुए मृतक के परिजनों और घायलों को सहायता राशि दी है. जिसके बाद पीड़ित के परिजनों ने अखिलेश यादव का आभार जताया है.

अखिलेश यादव ने मृतक सहित घायलों को दी सहायता राशि

बता दें कि मृतक की पत्नी कस्तूरी बाई को 4 लाख 25 हज़ार और 7 घायलों को 25 हज़ार रुपये की सहायता राशि दी गई है. जानकारी के मुताबिक, समाजवादी पार्टी के पदाधिकारी पूरन यादव के घर पहुंचे और मृतक सहित घायलों को सहायता राशि दी. 

लोकसभा चुनाव से पहले यादव को साधने में जुटी समाजवादी पार्टी

बता दें कि अखिलेश यादव 'पन्ना गोलीकाण्ड' में पीड़ित परिवारों को सहायता राशि उस समय दी जब देश में लोकसभा चुनाव होने हैं. ऐसे में ये कहा कि जा रहा है कि समाजपार्टी पार्टी नेता अखिलेश यादव लोकसभा चुनाव से पहले यादवों को साधने में लगे हुए हैं. दरअसल, उत्तर प्रदेश की सीमा से लगे खजुराहो में यादव मतदाताओं की संख्या अच्छी खासी है और ये सीट समाजवादी पार्टी के खाते में गई है. वहीं कांग्रेस खजुराहो सीट पर सपा का समर्थन करेगी. ऐसे में भाजपा के लिए ये सीट बचाना काफी चुनौतिपूर्ण रहेगी.

खजुराहो सीट जीतना भाजपा के लिए चुनौतिपूर्ण

गौरतलब है कि बुंदेलखंड में जाति आधारित राजनीति का बोलबाला है. ऐसे में खजुराहो सीट भाजपा से हथियाने के लिए समाजवादी पार्टी और कांग्रेस ने इंडिया गठबंधन से हाथ मिलाया है. साथ ही सपा के खाते में ये सीट जाने की वजह जातिगत समीकरण ही माने जा रहे हैं, क्योंकि ये सीट ओबीसी मतदाता बाहुल्य सीट है.

इस सीट पर यादव मतदाता काफी संख्या में हैं. ऐसे में इस क्षेत्र में यादवों के साथ पटेल और अहिरवार की वोट अगर इंडिया गठबंधन यानि सपा प्रत्याशी के खाते में जाती है तो भाजपा के लिए काफी मुश्किल होगी, क्योंकि उत्तर प्रदेश से लगे होने के कारण इस क्षेत्र में सपा का अच्छा प्रभाव है.

ये भी पढ़े: WPL 2024 Final: RCB पहली बार बनी चैंपियन, दिल्ली को 8 विकेट से हराया, तस्वीरों में देखें जीत का जश्न

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
switch_to_dlm
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close