विज्ञापन
Story ProgressBack

Negligence: 50 बेड वाले नए एमसीएच भवन में सुविधाएं नहीं, कई नियमों की भी हो रही अनदेखी

Koriya New MCH Hospital: जिले में 50 बेड वाली एमसीएच अस्पताल की नई बिल्डिंग लगभग बनकर तैयार है. लेकिन, इसमें जरूरी सुविधाएं और जरूर मानकों का ध्यान नहीं रखा गया है. 

Read Time: 3 mins
Negligence: 50 बेड वाले नए एमसीएच भवन में सुविधाएं नहीं, कई नियमों की भी हो रही अनदेखी
Koriya MCH Hospital New Building

Koriya News: कोरिया जिले के कंचनपुर में मदर एंड चाइल्ड हॉस्पिटल (MCH) का दो मंजिला भवन बनकर तैयार हो चला है. पर 50 बिस्तर वाले इस अस्पताल में सुविधाएं नहीं है. दरअसल, पुराने अस्पताल में जच्चा-बच्चा के लिए 70 बेड की सुविधा मिल रही है. जबकि नए अस्पताल में 50 बेड की सुविधा ही उपलब्ध कराई जानी है. अस्पताल के प्राइवेट वार्ड (MCH Private Ward) में मात्र दो बेड हैं. इससे जरूरत पड़ने पर प्राइवेट वार्ड मिलने की संभावना काफी कम हो जाएगी. एमसीएच में स्टाफ के लिए अलग से वार्ड या कमरा नहीं बनाया गया है, न ही स्टाफ के लिए अलग से टॉयलेट की सुविधा दी गई है. ऐसे में यहां सेवा देने वाले स्टाफ को परेशानी होगी.

इन सुविधाओं की होगी कमी

एमसीएच के तैयार हो रहे नए भवन में स्टाफ को भी सुविधाएं नहीं मिलेगी. तकनीकी जानकारों की मानें तो नवजात शिशुओं की देखरेख के लिए एसएनसीयू वार्ड में भी जरूरी इंफ्रास्ट्रक्चर और संसाधन उपलब्ध नहीं है. इसे एसएनसीयू नियम के अनुसार नहीं बनाया गया है. इससे यहां डॉक्टर और स्टाफ परेशान होंगे. बता दें कि तीन महीने पहले कलेक्टर विनय कुमार लंगेह ने अस्पताल भवन का निरीक्षण करते हुए अस्पताल की कमियों को दूर करने के लिए कहा था. अस्पताल में सीपेज की समस्या न आए इसका खास ध्यान रखने के लिए कहा गया था, लेकिन बावजूद इसके अस्पताल की कमियां दूर नहीं हो पाई. अस्पताल के पानी निकासी का प्रबंध और नाली निर्माण भी नहीं हुआ है. इससे अस्पताल के आसपास पानी जमा होने से गंदगी होगी.

100 बिस्तरीय सुविधा दी जा सकती है

कंचनपुर में तैयार हो रहे एमसीएच भवन को 100 बिस्तरीय बनाने के लिए यहां जगह पर्याप्त है. यदि स्वास्थ्य विभाग चाहे तो इंफ्रास्ट्रक्चर और संसाधन बढ़ाए जा सकते हैं. डॉक्टरों की मानें तो वर्तमान में जिला अस्पताल में 70 बेड की सुविधा भी कम पड़ रही है. ऐसे में 50 बेड की अतिरिक्ति सुविधा जरूरी है. 35 करोड़ के 200 बिस्तरीय जिला अस्पताल और एमसीएच का निर्माण अप्रैल 2022 से चल रहा है. 

ये भी पढ़ें :- Interview with CM Mohan Yadav: 'कभी-कभी गलतियां हो जाती हैं, हम अतीत की गलतियों से सबक लेकर भविष्य में चलते हैं', NDTV की इस मुहिम का किया समर्थन

अस्पताल का एक कोना गड्ढे में

बता दें कि एमसीएच भवन के निर्माण से पहले यहां पर्याप्त मात्रा में मिट्टी फिलिंग नहीं कराई गई. इससे अस्पताल का एक कोना गड्ढे में है. बारिश में अस्पताल और सीएमएचओ ऑफिस के बीच पानी जमा होगा. इससे भवन के नींव में पानी जाने से भवन के कमजोर होने की संभावना रहेगी. विभागीय अफसरों के अनुसार लोकसभा चुनाव के बाद भवन का उद्घाटन कर इसे शुरू करने की तैयारी है.

ये भी पढ़ें :- MP News: लोकसभा चुनाव से पहले लगा कांग्रेस को बड़ा झटका, तीन बार के विधायक भाजपा में हुए शामिल

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
भारत में नौकरियों में आई बड़ी उछाल, अकेले अप्रैल में ईपीएफओ से जुड़े रिकॉर्ड 18.92 लाख नए सदस्य
Negligence: 50 बेड वाले नए एमसीएच भवन में सुविधाएं नहीं, कई नियमों की भी हो रही अनदेखी
Deadly superstition After his wish for BJP victory was fulfilled youth from Balrampur cut his finger and offered it to Goddess Durga
Next Article
जानलेवा अंधविश्वास! बीजेपी की जीत की रखी मन्नत, पूरी होने पर युवक ने उंगली काटकर देवी मां को चढ़ाया
Close
;