विज्ञापन
Story ProgressBack

Coal Scam: निलंबित IAS रानू साहू, समीर विश्नोई और सौम्या चौरसिया की बढ़ी मुश्किलें, EOW ने नया मामला किया दर्ज

New FIR Against Ranu Sahu, Sameer Vishnoi and Saumya Chaurasia: जेल में बंद निलंबित आईएएस रानू साहू, समीर विश्नोई और सौम्या चौरसिया के खिलाफ ईओडब्ल्यू ने आय से अधिक संपत्ति के मामले को लेकर नई एफआईआर दर्ज की है.

Read Time: 3 mins
Coal Scam: निलंबित IAS रानू साहू, समीर विश्नोई और सौम्या चौरसिया की बढ़ी मुश्किलें, EOW ने नया मामला किया दर्ज
तीनों निलंबित अधिकारी वर्तमान में जेल में हैं.

Chhattisgarh Coal Scam: छत्तीसगढ़ में कथित कोयला घोटाले (CG Coal Scam) में जेल में बंद निलंबित आईएएस रानू साहू (Ranu Sahu), समीर विश्नोई (Sameer Vishnoi) और सीएमओ में डिप्टी सेक्रेटरी के पद में रहीं सौम्या चौरसिया (Saumya Chaurasia) की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. इन तीनों के खिलाफ EOW ने तीन नए मामले दर्ज किए हैं. इन तीनों पर पद का दुरुपयोग करते हुए आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने के आरोप में EOW ने नए कानून BNS की धारा 173 और भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम (Prevention of Corruption Act) की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है. नया मामला दर्ज होने से तीनों की मुश्किलें बढ़ सकती हैं.

रानू साहू पर करोड़ों की संपत्ति अर्जित करने का है आरोप

EOW में पदस्थ निरीक्षक केएल बरेठ के नाम दर्ज कराई गई एफआईआर में कहा गया है कि 2010 बैच की आईएएस रानू साहू ने सीईओ जिला पंचायत निगम कमिश्नर और विभिन्न जगह में कलेक्टर रहते हुए अपनी आय के ज्ञात स्रोत से अधिक मात्रा में अपने और अपने परिवार के नाम करोड़ों रुपये की संपत्ति अर्जित की है. कोयला परिवहन में अवैध सिंडिकेट के जरिए 25 रुपये टन वसूली की गई, जिसका पैसा रानू साहू को मिला. इतना ही नहीं रानू साहू जहां भी पदस्थ रहीं, उन्होंने भ्रष्टाचार के जरिए खुद को आर्थिक रूप से समृद्ध किया. 

निलंबित आईएएस रानू साहू ने वर्ष 2015 से 2022 के बीच करीब चार करोड़ रुपये की अचल संपत्ति खुद के नाम और पारिवारिक सदस्यों के नाम खरीदी है, जबकि उनके सेवा में आने के बाद से 2022 तक का कुल वेतन 92 लाख रुपये बताया गया है.

सौम्या चौरसिया ने 9 करोड़ से ज़्यादा की संपत्ति बनाई

EOW में दर्ज नई एफआईआर में बताया गया है कि सौम्या चौरसिया तत्कालीन भूपेश बघेल सरकार में डिप्टी सेक्रेटरी मुख्यमंत्री सचिवालय में पदस्थ रहते हुए कोयला घोटाले के अवैध सिंडिकेट का हिस्सा रही हैं. सौम्या चौरसिया ने अपनी आय से अधिक अपने और परिवार के नाम पर 9 करोड़ 20 लाख रुपये की 29 अचल संपत्ति खरीदी है. ये संपत्ति ज्यादातर वर्ष 2021 से 2022 के बीच खरीदी गई है.

समीर विश्नोई ने पत्नी के नाम पांच करोड़ की संपत्ति बनाई

जेल में बंद निलंबित आईएएस समीर विश्नोई पर भी कोयला परिवहन के सिंडिकेट से करोड़ों रुपये अर्जित करने का आरोप है. EOW में दर्ज नई एफआईआर में कहा गया है कि समीर विश्नोई ने पांच करोड़ की अचल संपत्ति अपनी पत्नी के नाम पर खरीदी, जबकि वर्ष 2010 से 2022 तक विश्नोई को कुल वेतन करीब 93 लाख रुपये मिला है.

यह भी पढ़ें - NDTV की खबर का बड़ा असर: मिड डे मील मामले में कलेक्टर का एक्शन, संकुल समन्वयक और प्रधान पाठक निलंबित

यह भी पढ़ें - आदिवासी बच्चों के लिए बड़ी खुशखबरी: अब 18 लोकल भाषाओं में कर सकेंगे पढ़ाई, NEP के तहत CM साय की पहल

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
प्रेमी ने प्रेमिका को गला घोंटकर उतारा मौत के घाट, खुद भी की आत्महत्या; होटल और रेलवे पटरी पर मिले शव
Coal Scam: निलंबित IAS रानू साहू, समीर विश्नोई और सौम्या चौरसिया की बढ़ी मुश्किलें, EOW ने नया मामला किया दर्ज
Ramanujganj Balrampur Scam of Rs 77.33 lakh in paddy purchase from Bhanwarmal Committee case registered against 11 including manager four arrested
Next Article
Paddy scam: भंवरमाल समिति से धान खरीदी में 77.33 लाख रुपये का घोटाला, प्रबंधक समेत 11 पर केस दर्ज, चार गिरफ्तार
Close
;