विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Dec 28, 2023

Khandwa News: एक के बाद एक 40 धमाकों से दहला एमपी का खंडवा, ब्लास्ट में गंभीर रूप से घायल हुए 7 लोग

Khandwa News MP: मध्य प्रदेश के खंडवा में एक अवैध गैस गोदाम में गैस रिफिल करते समय गैस सिलेंडर फटने से एक-एक कर 40 गैस सिलेंडर फटने से हुए ब्लास्ट में 7 लोग जख्मी हो गए. बहुत ही मुश्किल से फायर ब्रिगेड ने आग पर काबू किया.

Khandwa News: एक के बाद एक 40 धमाकों से दहला एमपी का खंडवा, ब्लास्ट में गंभीर रूप से घायल हुए 7 लोग

Khandwa Blast News: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के खंडवा स्थित घास पूरा (Ghaspura) इलाके में एक मकान में अवैध रूप से रखे गैस सिलेंडर (Gas Godown) में गैस रिफिलिंग करते वक्त आग लग गई. जिसके चलते भयानक हादसा हो गया. इस दौरान एक एक कर लगभग 40  गैस सिलेंडरों में ब्लास्ट हुआ. एक के बाद एक लगातार सिलेंडर फटने से क्षेत्र में अफरातफरी का माहौल हो गया. इस दौरान क्षेत्र की बिजली सप्लाई बंद करके यहां से लोगों को तुरंत दूर भेज दिया गया.

जांच में जुटा प्रशासन

आग इतनी भानक थी कि इस पर काबू पाने में 3 घंटे का समय लगा. बताया जा रहा है कि इस घटना में सात लोग घायल हुए हैं, जिन्हें पहले जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन उनकी हालत गंभीर होने की वजह से वहां से उन्हें इंदौर रेफर कर दिया गया. अब प्रशासनिक अमला इस पूरे मामले की जांच के बाद दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की का बात कह रहा है. डीएसपी अनिल चौहान ने जानकारी देते हुए बताया कि गैस सिलेंडर में ब्लास्ट हुआ है. यह गैस की टंकियां इतनी मात्रा में कहां से आई है, यह आग पर कंट्रोल करने के बाद इसकी जांच की जाएगी. पूरी घटना में कुल सात लोग घायल हैं. फिलहाल, आग पर काबू पा लिया गया है.

घर से चल रहा था गैस का अवैध कारोबार

बताया जा रहा है कि राजेश उर्फ राजा मराठा गैस वेंडर का काम करता था. उसने अपने घर पर लगभग 200 से अधिक सिलेंडरों का स्टॉक अवैध रूप से रखा हुआ था. वे अपने मकान से ही लोगों को गैस रिफिल कर देता था. लोगों ने कई बार इसकी शिकायत की थी, लेकिन स्थानीय प्रशासन ने कोई ध्यान नहीं दिया. इस बीच रिफिल करते समय बुधवार रात अचानक गैस सिलेंडर में आग लग गई, जिसके चलते यह हादसा हो गया. अवैध रूप से रखी गई गैस की टंकियां के गोदाम में लगी आग आग इतनी भयानक थी कि इसे देखते हुए आसपास के घरों को भी खाली कर लिया गया था. इसके बाद दमकल विभाग की गाड़ियों से आग पर नियंत्रण पाया जा सका.

हादसे में ये हुए घायल

1. राजेश पवार 46 (गोदाम का मालिक)
2. माधुरी पवार 40 (राजेश पवार की पत्नी)
3. रोशन 15 (राजेश पवार का बेटा)
4. दीपक 22  (राजेश पवार का बेटा)
5. भानु 16, पिता संजय भांवरे निवासी टपाल चला
6. हर्षल भगत 16, निवासी बड़ा कब्रिस्तान
7. सतीष विश्वकर्मा 32, निवासी शिवना हाल निवासी सलूजा कालोनी

समझाने के बाद भी नहीं बंद किया अवैध कारोबार

स्थानीय पार्षद मो असलम गौरी का कहना है कि राजेश पवार नाम के व्यक्ति के घर में यह घटना हुई है. यह व्यक्ति डिलीवरी बॉय है और लगभग सभी कंपनियों की गैस की टंकियां सप्लाई करता है. साथ ही गैस की टंकियों की रिफिलिंग भी करता है. कई बार उसे समझाया गया, लेकिन इसके बावजूद उसने अपना अवैध कारोबार बंद नहीं किया.

ये भी पढ़ें- CM साहब !वादा था- ₹450 में सिलेंडर देने का, 32.62 लाख बहनें पूछ रही हैं- कब मिलेगा ?
 

 लापरवाह अफसरों पर गिरेगी गाज

खंडवा में हुए भीषण अग्निकांड के बाद संभागायुक्त मालसिंह ने कलेक्टर को मामले की जांच के आदेश दिए है. जांच रिपोर्ट के आधार पर लापरवाह अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. साथ ही मालसिंह ने जिला प्रशासन को सभी घायलों के बेहतर उपचार का प्रबंध करने के निर्देश दिए है. 

ये भी पढ़ें- Guna News: डंपर से टक्कर के बाद बस में लगी भीषण आग, 12 लोग जिंदा जलकर मरे, CM ने दिए जांच के आदेश

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
बिना सैलरी के कैसे होगा काम ? MP के इस जिले में सफाई कर्मियों ने जताया विरोध
Khandwa News: एक के बाद एक 40 धमाकों से दहला एमपी का खंडवा, ब्लास्ट में गंभीर रूप से घायल हुए 7 लोग
Dead people not able to be carried with four shoulders because of bad road condition in Maihar
Next Article
ऐसी भी क्या मजबूरी थी? शव को नसीब नहीं हुए चार कंधे, तो इस तरह निकली अंतिम यात्रा
Close
;